Breaking News

काँग्रेस के आलाकमान बिहार काँग्रेस इकाई से नाराज,मदन मोहन झा समेत सभी बरिष्ठ काँग्रेसी दिल्ली तलब। | दरभंगा में गोपालजी ठाकुर बनाम सिद्दीकी,मधुबनी में अशोक यादव बनाम फातमी और झंझारपुर में रामप्रीत मंडल बनाम गुलाब यादव में मुकाबला तय। | राहुल गांधी के कड़े रुख पर बदल रही है महागठबंधन में सीटों का ताल मेल,कीर्ति के लिये दरभंगा या मधुबनी से संभावना बंकी। | दरभंगा की राजनीति में एक युग का हुआ अंत,कीर्ति और फातमी युग अंत के तरफ,संजय झा हासिये पर। | महागठबंधन रह गया बरकरार, काँग्रेस 9 और राजद 20 सीटों पर लड़ेगी चुनाव,दरभंगा कांग्रेस के खाते में। | महागठबंधन टूट के कगार पर,कीर्ति आजाद का दरभंगा से कट सकता है टिकट,सिद्दीकी या मुकेश सहनी उतर सकते मैदान में। | दरभंगा सीट पर एनडीए से कौन मारेगा बाजी:संजय झा,गोपालजी ठाकुर या फिर नीतीश मिश्रा,रस्साकस्सी जारी,फैसला आज शाम तक संभावित। | धुंआ और राख में तब्दील हुआ दरभंगा का झगरुआ गाँव, भीषण अग्नि कांड के भेंट चढ़ा 57 घर,जिंदा जला मासूम। | दरभंगा संसदीय सीट काँग्रेस के खाते में,संजय झा बनाम कीर्ति झा आजाद के बीच मुकाबला। | अब दरभंगा समाहरणालय के दीवारों पर दिखेगी मधुबनी पेंटिग |

दरभंगा सीट पर एनडीए से कौन मारेगा बाजी:संजय झा,गोपालजी ठाकुर या फिर नीतीश मिश्रा,रस्साकस्सी जारी,फैसला आज शाम तक संभावित।

 दरभंगा सीट पर एनडीए से कौन मारेगा बाजी:संजय झा,गोपालजी ठाकुर या फिर नीतीश मिश्रा,रस्साकस्सी जारी,फैसला आज शाम तक संभावित।

 

टाइम्स ऑफ मिथिला न्यूज़।दरभंगा संसदीय सीट पर प्रत्याशी का नाम फाइनल करने के लिये भाजपा के अंदरखाने रस्साकस्सी का दौर जारी है।यह तो अब फाइनल हो चुका है कि यह सीट भाजपा के खाते में चली गयी है पर उम्मीदवार का नाम तय करना कठिन सावित हो रहा है।भाजपा संसदीय बोर्ड का मैराथन बैठकों का दौर दिल्ली अवस्थित पार्टी मुख्यालय में जारी है।उम्मीद है कि रविवार देर शाम तक पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा 180 उम्मीदवारों के नाम की प्रथम सूची जारी की जा सकती है।रविवार सुबह 10 बजे से पार्टी मुख्यालय में फिर एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की जा रही है जिसमें 180 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय किये जाने की उम्मीद है,जिसमें दरभंगा सीट पर गहन विमर्श किया जा सकता है।
                                                  ds
 
गोपालजी ठाकुर,नीतीश मिश्रा और संजय झा रेस में
 
जहाँ तक दरभंगा संसदीय सीट का सबाल है तो यहाँ पर यह भी बात भी स्पष्ट  हो चुका है कि भाजपा के खाते में जाने के बाद भी इस सीट पर संजय झा के लिये उम्मीद शेष है और यही कारण है कि भाजपा कोई फैसला आसानी से नही कर पा रही है।संजय झा के दावेदारी के पीछे जो वजह है वह यह कि अरुण जेटली के नेतृत्व में संसदीय बोर्ड का एक खेमा संजय झा को भाजपा में शामिल कराकर कमल निशान से चुनाव लड़ाना चाहती है।इसीलिए जब तक किसी उम्मीदवार का नाम अंतिम रूप से फाइनल नही हो जाता ,संजय झा के लिये उम्मीद शेष है।वही गोपालजी ठाकुर के दावेदारी के पीछे आरएसएस का सपोर्ट काम कर रहा है।साथ ही अश्विनी चौबे का खेमा भी उनके लिये काम कर रहा है।दरभंगा  सीट का भाजपा खाते में जाने के पीछे भी संघ की भूमिका ही बताई जा रही है।
                                 
                                                             fd
 
मधुबनी सीट पर हुक्मदेव नारायण यादव के पुत्र और पूर्व विधायक अशोक यादव के नाम पर लगभग सहमती बन चुकीहै।मधुबनी से नीतीश मिश्रा का नाम भी चर्चा में था पर अशोक यादव के नाम पर सहमती के बाद नीतीश मिश्रा का नाम पर अब दरभंगा से उम्मीदवारी के लिये  विचार किया जा रहा है।ऐसी स्थिति में दरभंगा से कुल मिलाकर संजय झा,गोपालजी ठाकुर और नीतीश मिश्रा में से किसी भी नाम पर मुहर लग सकता है।सभी संभावित उम्मीदवारों के समर्थकों में उत्साह बरकरार है और अपने तरफ से सब अपने अपने उम्मीदवारों के पक्ष में माहौल बनाने में जुटे है।उम्मीदे शेष है और अपवाहों का बाजार गरम।
                                                              d

visitor counter